बड़ी खबर- एप्पल ने इसलिये ट्रम्प को किया बाय-बाय और मोदी जी से मिलाया हाथ!

साल के शुरुआत में हम आपके लिए धमाकेदार ख़बर लाए हैं. मोदीजी के मेक इन इंडिया अभियान की धूम मचा रखी रखी है. इस अभियान के चलते बड़ी-बड़ी विदेशी कंपनियां भारत की ओर रूख कर रही है. इसी अभियान के अंतर्गत अमेरिका की स्‍मार्टफोन निर्माता कंपनी एप्पल भी अपने आईफोन का उत्‍पादन भारत में ही शुरू करने की तैयारी में जुट गयी है.

आने वाले समय में एप्पल भारत के बाज़ार के लिए स्मार्टफोन्स को तैयार करने वाला है. मेक इन इंडिया अभियान के तहत एप्पल के लिए ओरिजनल इक्विपमेंट मैन्यूफैक्चरर का काम करने वाली कंपनी विस्ट्रॉन ने बेंगलुरू में आईफोन की मैन्युफैक्चरिंग के लिए काम भी शुरू कर दिया है.

अब से एप्पल मेड इन चाइना नहीं मेड इन इंडिया होगा. 2017 में आइफ़ोन की मैन्युफ़ैक्चरिंग बेंगलुरु से होंगी. मैन्युफ़ैक्चरिंग के साथ साथ एप्पल कंपनी भारत मे अस्सेम्ब्लिंग ऑपरेशन के लिए भी पूरी तरह से तैयार है. आपको बता दे कि भारत में एप्पल का खुद का स्टोर नहीं है. लेकिन एप्पल के प्रोडक्ट्स के पीछे दुनिया पागल है. वर्तमान में एप्पल के उत्पादन कोरिया, जापान और अमेरिका सहित छह देशों में बनाए जाते हैं लेकिन कुछ ही दिनों में भारत में भी बनाये जाने लगेंगे.

अब मोदीजी का जलवा पूरी दुनिया में चलने लगा है. पूरी दुनिया में भारत की एक अलग छवि बनती जा रही है. एप्पल के इस फैसले के वजह से ट्रम्प और एप्पल के बीच तकरार भी हो रखी है. ट्रम्प का कहना है कि अगर एप्पल अमेरिका से बहार जाकर अपने प्रोडक्ट्स बनाता है तो अमेरिका में एप्पल पर 30% से ज्यादा टैक्स लगाया जाएगा. एप्पल ने भी भारत आने का ये फैसला काफी सोच समझकर लिया है. एप्पल कंपनी जानती है भारत में मैन्युफैक्चरिंग करने से एप्पल को काफी मुनाफा होने वाला है.

वर्तमान में एप्पल को भारत में अपने अपने प्रोडक्‍ट्स बेचने के लिए 12.5 प्रतिशत इंपोर्ट ड्यूटी चुकानी होती है लेकिन अगर लोकल मैन्यूफैक्चरिंग शुरू हो जायेगी तो यह भारी टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा और भारत में आइफोन की कीमत भी काफी कम् हो जाएगी. एप्पल का कहना है कि मोदीजी के मेक इन इंडिया अभियान के कारण ही उन्हें ये मौका मिला है.

SHARE