बड़ा खुलासा: राहुल गाँधी खुद पुलिस की जिप्सी में बैठे और कहने पर भी नहीं उतरे!

पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल के सुसाइड पर पॉलिटिकल ड्रामा गुरुवार को भी जारी रहा और दिल्ली पुलिस के लिए गुरुवार का दिन भी काफी मशक्कत भरा रहा। राहुल गांधी गुरुवार शाम तो 6 से 7 बजे के बीचे जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने पहुंचे। वहां पहुंचने के कुछ मिनट बाद ही राहुल गांधी ने पुलिस को सूचना दी कि वे इंडिया गेट तक कैंडल लाइट मार्च निकालेंगे। अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने इस पर ऐतराज जताया और कहा कि प्रदर्शन की अनुमति केवल जंतर-मंतर पर ही है। इसके बाद राहुल ने सरेंडर करने की बात कही और पुलिस से कहा कि मुझे अरेस्ट कर लो। पुलिस ने बताया कि जब पुलिस ने गिरफ्तार करने से मना कर दिया तो राहुल खुद पुलिस जिप्सी में जाकर बैठ गए। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पुलिस की जिप्सी को घेर लिया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। कुछ पत्रकारों ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी तक पहुंचने की कोशिश की, लेकिन एसपीजी ने उन्हें वहां से हटा दिया। आखिरकार पुलिस ने इसमें दखल दी और स्थिति को नियंत्रित किया। हालांकि, कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का कहना है कि राहुल गांधी जैसे ही जंतर-मंतर पर पहुंचे, उन्हें जबरन पुलिस जिप्सी में बैठा लिया गया। ये तो बस राहुल के ड्रामे की शुरुआत थी, अगले पेज पर देखें राहुल का असली ड्रामा.

अगले पेज पर देखें यही खत्म नहीं हुआ राहुल गाँधी का ड्रामा ये तो बस शुरूआत भर थी…

1
2
3
4
5
SHARE