आंकड़े जानेंगे तो होश उड़ जायेंगे आपके!!

 दूसरा नंबर कर्नाटक का…
– जन-धन खातों में सबसे ज्यादा रकम जमा होने के मामले में कर्नाटक दूसरे नंबर पर है।
– देशभर में इन खातों में नोटबंदी से पहले 9 नवंबर तक 45,636.61 करोड़ रुपए थे।
– बता दें कि 28 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री जन-धन योजना लॉन्च की गई थी।
– इसके पीछे सरकार का मकसद था कि हर घर में कम से कम एक बैंक खाता जरूर हो, जिसमें सब्सिडी की रकम डायरेक्ट ट्रांसफर की जा सके।
25.5 करोड़ जनधन अकाउंट हैं देशभर में
– जन-धन स्कीम के तहत कुल 25.5 करोड़ बैंक अकाउंट खोले गए थे।
– नोटबंदी के बाद लोग ब्लैकमनी को बदलने के लिए तरीके तलाश रहे हैं। इसके लिए भी जन-धन अकाउंट्स का इस्तेमाल किया जा रहा है।
फाइनेंस मिनिस्ट्री दे चुकी हिदायत
– फाइनेंस मिनिस्ट्री ने हिदायत दी है कि लोग अपने अकाउंट का गलत इस्तेमाल न होने दें।
– जनधन खातों में 50 हजार रुपए तक नगदी जमा करने की लिमिट तय की गई है।
– अरुण जेटली पहले ही कह चुके हैं कि अगर किसी जन-धन खाते में नोटबंदी से पहले तक जीरो बैलेंस था, लेकिन उसमें अचानक 50 हजार रुपए आ जाते हैं तो अकाउंट होल्डर से सवाल किया जा सकता है।
– फाइनेंस मिनिस्टरी ने कहा है, “अगर जन-धन खाते में जमा रकम किसी और की है तो टैक्स चोरी का मामला बनेगा। इस पर इनकम टैक्स के साथ जुर्माना भी देना होगा।”

CLick Next करके जानें कुल मिला कर कितने पैसे जमा हुए जन धन खातों में : आपके होश उड़ जायेंगे ये जानकर

1
2
SHARE