दुनिया को हिला भारत ने रच दिया इतिहास! विश्व की महाशक्तियों ने ठोका सलाम!

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने रविवार इतिहास रच दिया. इसरो ने वायु मंडल की ऑक्सीजन को फ्यूल बनाने में इस्तेमाल करने वाले स्क्रैमजेट इंजन का सफलता पूर्वक टेस्ट कर लिया. ये टेस्ट लगभग पांच मिनट का रहा. यह टेस्ट आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा सतीश धवन स्पेस सेंटर (SDSC) से किया गया.वैज्ञानिकों का कहना है कि रीयूजेबल लॉन्च व्हीकल (RLV) में हाईपरसोनिक स्पीड (साउंड की स्पीड से तेज) पर इस इंजन का यूज किया जाएगा. भारत अन्तरिक्ष में पहले से ही अपनी मौजूदगी का डंका बजा चूका है. (सक्रेमजेट इंजन की खूबियों और क्यूँ पूरी दुनिया है दीवानी इस इंजन की, अगले पेज पर जरूर जाने) 

isro3

पूरा विश्व भारत की बेहतरीन और बेहद ही सस्ती लागत वाली प्रणाली के आगे नतमस्तक है. वहीँ, स्क्रैमजेट इंजन के इस्तेमाल से इसमें और भी ज्यादा कटौती होगी. इससे भारत को आने वाले समय में और भी मुनाफा होगा. आपको बताते चलते हैं की भारत से गूगल भी अपने कई उपग्रह की लौन्चिंग करा चूका है.

अगले पेज पर जाने किस देश की बराबरी की भारत ने और क्या है स्क्रैमजेट और क्या होंगे इसके फायदे दुनिया भर में कैसे बजेगा भारत का डंका…

1
2
3
SHARE