भारतीय मीडिया कायर है, जो की इस्लामिक आतंकवाद पर चर्चा तक करने की हैसियत नहीं रखती!

हाल ही में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने भारतीय मीडिया को दुनिया की सबसे घटिया अविश्वसनीय बताते हुए आखरी दूसरा पायदान दिया और कही ना कही भारतीय मीडिया इस स्थान पर अच्छी भी लगती है। भारत की जनता खुद ही कहती है कि भारत की मीडिया दलाल बन चुकी है और भारत की जनता भारतीय मीडिया पर पूरी तरह विश्वास भी नही करती। सबसे बड़े शर्म की बात तो यह है कि आज पूरी दुनिया भारतीय मीडिया के इन दोगोलेपन को जान चुकी है।

अब तारिक फतह ने भी भारतीय मीडिया को आड़े हाथों लिया और जो बोला उसे सुन बिकाऊ मीडिया के होश उड़ जायेंगे.

अगले और आखिरी पेज पर जाने तारिक फतह ने भारतीय मीडिया को ददे डाली क्या गन्दी गलियां…

1
2
SHARE