Breaking-केजरीवाल सरकार की खुली पोल, RTI में खुलासा 3 महीने में विज्ञापनों पर खर्च कर डाले इतने करोड़

एक तरफ जहाँ दिल्ली की जनता पानी और बिजली की कमी से बुरी तरह त्रस्त है. वहीँ, दूसरी तरफ दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने प्रिंट मीडिया में विज्ञापन पर 91 दिन के दौरान करीब 15 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। आरटीआई के तहत मिली जानकारी में एक दिलचस्प बात और भी पता चली है. इस जानकारी के मुताबिक दिल्ली की केजरीवाल सरकार से इन विज्ञापन छापने के लिए पैसा लेने वालों में प्रमुख प्रकाशन कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, ओडिशा समेत कुछ और राज्यों के दैनिक अखबार भी शामिल हैं। अब ये भी आने वाले समय में पता चल ही जाएगा की क्या कोई connection है केजरीवाल सरकार का इन प्रकाशन हाउस से?

अमन पंवार को अपनी आरटीआई के जवाब में पता चला की केजरीवाल सरकार ने 10 फरवरी से 11 मई के बीच विज्ञापनों पर करीब 14.56 करोड़ रुपये का खर्चा किया। हाल ही दिल्ली सरकार द्वारा विज्ञापनों पर किये जारहे खर्च को लेकर कांग्रेस ने भी आम आदमी पार्टी को जमकर लताड़ा। कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा की एक तरफ तो दिल्ली सरकार के पास सफाई कर्मचारियों को तनख्वाह देने तक के लिए पैसे नहीं हैं, वहीँ इनके पास विज्ञापनों पर इतनी बड़ी रकम खर्च करने के लिए पैसे कहाँ से आजाते हैं. केजरीवाल सरकार सरकार दिल्ली की जनता के साथ धोखा कररही है.
Please share your views in the comments box below…
SHARE