आप खुद विडियो में देखिये इनके बोल, आप जैसे हिंदी पत्रकार 36 हजार रोज कटते हैं हमारे हाथों से!

क्या अभिव्यक्ति की आजादी का रोना रोने वाले क्या इस जुझारू सत्यवादी पत्रकार के पक्ष में भी कुछ बोलेंगे । क्या अख़लाक़ की तरह इसमें भी अवार्ड वापसी सतर्क होकर अपने अवार्ड वापसी करेगी ।

कुछ समय पहले शाही इमाम्म बुखारी एक हिंदी पत्रकार के सवाल पर इतना ज्यादा भड़क गए की उस पत्रकार को सभी कैमरे के सामने धमकी तक दे डाली “आप जैसे पत्रकार 36 हज़ार रोज कटते हैं हमारे हाथों से”! खुद देखिये विडियो में.

अगले और आखिरी पेज पर देखिये इस शाही इमाम की विडियो लाइव कैमरों पर…

 

1
2
SHARE